समर्थक

यह ब्लॉग हरियाणा के ब्लॉग लेखकों को एक मंच पर लाने के उद्देश्य से निर्मित किया गया है | हरियाणा के सभी ब्लॉग लेखकों से निवेदन है कि वे इस ब्लॉग से न सिर्फ जुड़ें अपितु अपनी पोस्ट से इसे समृद्ध बनाएँ अगर अलग से पोस्ट न लिख पाएँ तो अपने ब्लॉग पर लिखित पोस्ट का लिंक ही लगाकर भागेदारी बनाए रखें |
इस ब्लॉग से लेखक के रूप में जुड़ने के लिए -------- dilbagvirk23@gmail.com -------पर ईमेल करें |

LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

बुधवार, 2 जनवरी 2013

नव वर्ष

                    जश्न,
                    पार्टीबाजी ,
                    हो-हल्ला ,
                    है नव वर्ष  |

                    वही दिन ,
                    वही रात ,
                    वही हालात ,
                    कैसा नव वर्ष  ?

                     न बदलाव ,
                     न कोशिश ,
                     न संकल्प  ,
                     खोखला नव वर्ष  |

                      खौफ घटे ,
                      ख़ुशी बढ़े ,
                      प्यार फैले ,
                      हो ऐसा नव वर्ष  |

                      थामो हाथ ,
                      चलो साथ ,
                      छुएँ नए शिखर ,
                      है नव वर्ष  |

                      तुम सुधरो ,
                      मैं सुधरूं ,
                      हालात सुधरें ,
                      हो मुबारक नव वर्ष  |

                         * * * * *

इतनी मजबूर तो नहीं ज़िन्दगी!...(कुँवर जी)

क्यूँ घुट रहे हो पल-पल,
कोई क़सूर तो नही जिंदगी!
खोलो पलके हाथ बढाओ,
इतनी भी दूर तो नहीं ज़िन्दगी!
माना ज़ख्म है कई तो क्या,
कोई नासूर तो नहीं ज़िन्दगी!
रोते हुए को हँसी ना दे पाए जो,
इतनी मजबूर तो नहीं ज़िन्दगी!
कुँवर जी,
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
MyFreeCopyright.com Registered & Protected