समर्थक

यह ब्लॉग हरियाणा के ब्लॉग लेखकों को एक मंच पर लाने के उद्देश्य से निर्मित किया गया है | हरियाणा के सभी ब्लॉग लेखकों से निवेदन है कि वे इस ब्लॉग से न सिर्फ जुड़ें अपितु अपनी पोस्ट से इसे समृद्ध बनाएँ अगर अलग से पोस्ट न लिख पाएँ तो अपने ब्लॉग पर लिखित पोस्ट का लिंक ही लगाकर भागेदारी बनाए रखें |
इस ब्लॉग से लेखक के रूप में जुड़ने के लिए -------- dilbagvirk23@gmail.com -------पर ईमेल करें |

LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

गुरुवार, 18 अक्तूबर 2012

मेरे हमसफ़र .......



मेरी ज़िन्दगी चले वो सांस हो तुम
मेरे खवाबो की हकीकत हो तुम
मेरे तस्सुवर, हर ख़याल में तुम
मेरी हर दुआ हर इबादत हो तुम
खुदा की अनमोल नियामत  हो तुम
                भूल न जाना ऐ हमसफ़र ,मेरा वजूद हो तुम |

मेरी हर ख्वाइश ,हर उम्मीद हो तुम
मेरी हर तमन्ना ,हर चाहत हो तुम
मेरी जीने की आरज़ू ,वजह हो तुम
मेरा हर वादा हर वचन हो तुम
मेरी हर अदा हर मुस्कान हो तुम
                 भूल न जाना ऐ हमसफ़र ,मेरी  दुनिया हो तुम |

मेरी शान मेरा अभिमान हो तुम
मेरी दीवानगी का आलम हो तुम
मेरी ख़ामोशी की भी आवाज़ हो तुम
मेरी ख़ुशी की खनक ,महक हो तुम
                  भूल न जाना ऐ हमसफ़र मेरे प्यार की हद्द हो तुम |

                      ************

7 टिप्‍पणियां:

  1. हस सफर ही तो जीवन को पार लगाता है उम्‍ंदा प्रस्‍तुति
    www.yunik27.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. तारिका जी बेहद उम्दा प्रस्तुति बधाई स्वीकारें

    उत्तर देंहटाएं
  3. समर्पण भाव की खूबसूरत अभिव्यक्ति

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर भाव और भाव-प्रवाह....

    कुँवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत अच्छी प्रस्तुति!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (20-10-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ! नमस्ते जी!

    उत्तर देंहटाएं
  6. आप सब का मेरी रचनाओं को पसंद करने के लिए
    बहुत बहुत शुक्रिया !आगे भी आपकी शुभकामनाएं
    चाहती रहूंगी ताकि लिखती रहूँ.!ये भी बताना चाहूंगी की मेरा
    नाम रश्मि है और तरीका मेरी सरनेम है !

    उत्तर देंहटाएं
  7. मेरी ज़िन्दगी चले वो सांस हो तुम
    मेरे खवाबो की हकीकत हो तुम।।।।।।।।।।ख़्वाबों ..........
    मेरे तस्सुवर, हर ख़याल में तुम।।।।।।।।।।।।।।।तसव्वुर ...................
    मेरी हर दुआ हर इबादत हो तुम
    खुदा की अनमोल नियामत हो तुम
    भूल न जाना ऐ हमसफ़र ,मेरा वजूद हो तुम |

    बढ़िया प्रस्तुति .

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
MyFreeCopyright.com Registered & Protected