समर्थक

यह ब्लॉग हरियाणा के ब्लॉग लेखकों को एक मंच पर लाने के उद्देश्य से निर्मित किया गया है | हरियाणा के सभी ब्लॉग लेखकों से निवेदन है कि वे इस ब्लॉग से न सिर्फ जुड़ें अपितु अपनी पोस्ट से इसे समृद्ध बनाएँ अगर अलग से पोस्ट न लिख पाएँ तो अपने ब्लॉग पर लिखित पोस्ट का लिंक ही लगाकर भागेदारी बनाए रखें |
इस ब्लॉग से लेखक के रूप में जुड़ने के लिए -------- dilbagvirk23@gmail.com -------पर ईमेल करें |

LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

शनिवार, 30 जून 2012

याद ( हाइकु )

बरसे नैना 
जैसे बादल कोई 
आई है याद ।

दूर सजन 
सताता है सावन 
याद सहारा ।

सांस की डोर 
जब तक न छूटी 
याद रहोगे ।

याद किया था 
ये क्या पूछा तुमने 
भूले कब थे ।

याद जो आती 
आँसुओं की बारिश 
थम न पाती ।


-------- दिलबाग विर्क 
*****************

8 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही सुन्दर हाइकू
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    --
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (01-07-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
  3. याद जो आती
    आँसुओं की बारिश
    थम न पाती ।
    ....वाह क्या बात है विर्क जी बहुत ही सुन्दर हाइकू......पसंद आया !

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
MyFreeCopyright.com Registered & Protected