समर्थक

यह ब्लॉग हरियाणा के ब्लॉग लेखकों को एक मंच पर लाने के उद्देश्य से निर्मित किया गया है | हरियाणा के सभी ब्लॉग लेखकों से निवेदन है कि वे इस ब्लॉग से न सिर्फ जुड़ें अपितु अपनी पोस्ट से इसे समृद्ध बनाएँ अगर अलग से पोस्ट न लिख पाएँ तो अपने ब्लॉग पर लिखित पोस्ट का लिंक ही लगाकर भागेदारी बनाए रखें |
इस ब्लॉग से लेखक के रूप में जुड़ने के लिए -------- dilbagvirk23@gmail.com -------पर ईमेल करें |

LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

बुधवार, 20 जून 2012

अनसुलझे....अजीब.....सवाल


सूख जाना ही है उसको इक रोज़
 तो पत्ता डाली पर पनपता क्यूँ है ,
 डरता है बदनामी से इस कदर
तो यह दिल प्यार करता क्यूँ है ,
बिछड़ना है तो दिल में प्यार
 पनपता क्यों है !
मरना है तो इन्सान जन्म लेता क्यों है  !
...........सवालों के जवाब चाहिए !

@ संजय भास्कर

21 टिप्‍पणियां:

  1. (1)पत्ता कहता है..जो भी पल मिले जिंदगी के सदा हरे रहो बाकी एक दिन तो सूख कर झड़ जाना ही है।
    (2)प्यार करने वाले कभी डरते नहीं। जो डरते हैं वो प्यार करते नहीं।
    (3)प्यार तो प्यार है बिछड़ने पर और भी बढ़ जाता है। जैसे राधा का कृष्ण से प्यार। बिछड़ने के खौफ से भी नहीं डरता।
    (4)मरता है क्यूँकि जन्म लेना है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. अनसुलझे.... अजीब... सवाल,
    पांडेय जी दिए खूब जवाब,
    और पोस्ट रही लाजवाब.

    कुँवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. पांडेय जी जवाब से मन प्रसन्न हो गया कुंवर जी

      हटाएं
  3. आपकी पोस्ट कल 21/6/2012 के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें

    चर्चा - 917 :चर्चाकार-दिलबाग विर्क

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. चर्चा मंच में स्थान देने के लिए शुक्रिया विर्क जी

      हटाएं
  4. बहुत खूब..
    संजय जी के सवाल...
    देवेन्द्र जी के जवाब..
    बहुत बढ़िया...
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  5. मन के भावों का सुंदर संम्प्रेषण,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  6. sunder prashn hain man ke aur man hi hai jaanta.

    sunder rachna
    shubhkamnayen

    उत्तर देंहटाएं
  7. **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    *****************************************************************
    सूचनार्थ


    सैलानी की कलम से

    पर्यटन पर उम्दा ब्लॉग को फ़ालो करें एवं पाएं नयी जानकारी



    ♥ आपके ब्लॉग़ की चर्चा ब्लॉग4वार्ता पर ! ♥


    ♥ पेसल वार्ता - सहरा को समंदर कहना ♥


    ♥रथयात्रा की शुभकामनाएं♥

    ब्लॉ.ललित शर्मा
    ***********************************************
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^
    **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**

    उत्तर देंहटाएं
  8. जब सवाल "बोधि वृक्ष" बन जाएँ तो जवाब स्वतः झरने लगते हैं....
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत बेहतरीन रचना....
    मेरे ब्लॉग पर आपका हार्दिक स्वागत है।

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
MyFreeCopyright.com Registered & Protected